रीवा

Rewa news:रीवा में दो रोजगार सहायकों की सेवा समाप्त, ये वजह आई सामने

Rewa news:पात्र हितग्राही को छोड़ अपात्र को दिया था पीएम आवास योजना का लाभ

 

Mp rewa news: रीवा में पीएम आवास में घोटाले को लेकर सूरा और पचोखर के रोजगार सहायकों(GRS ) की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं. बता दें कि दोनों रोजगार(REWA ROJGAR SAHAYAK) सहायकों पर अपात्र लोगों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगा था. जिसके बाद जिला पंचायत सीईओ सौरभ सोनवड़े(REWA CEO SAURABH SONVADE)ने बड़ी कार्यवाही करते हुए रोजगार सहायकों को सेवा से बर्खास्त कर दिया है.यह पूरा मामला रीवा(REWA CEO BIG ACTION ) जिले के गंगेव जनपद के सूरा और पचोखर का है.

 

 

 

 

 सामाजिक कार्यकर्ता शिवानंद द्विवेदी ने किया था शिकायत

 

Rewa news: Service of two employment assistants terminated in Rewa, this reason came to light

प्रधानमंत्री आवास योजना(PM AAWAS )में दो रोजगार सहायकों (REWA ROJGAR SAHAYAK)द्वारा अपात्र लोगों को योजना के तहत लाभ पहुंचाए जाने के मामले को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता शिवानंद द्विवेदी ने मामले को लेकर शिकायत की थी. शिवानंद द्विवेदी(Shivanand dwivedi ) ने जानकारी देते हुए बताया की शिकायत के बाद जिला पंचायत सीईओ सौरभ सोनवड़े(rewa CEO ACTION ) ने कार्रवाई करते हुए दो रोजगार सहायक को बर्खास्त कर दिया. इस मामले की पूरी जांच तीन अधिकारियों के द्वारा की गई थी.जिसमें आवास प्रभारी जिला पंचायत रीवा विनोद पांडे कोऑर्डिनेटर अजय शुक्ला और सीईओ जनपद पंचायत त्योथर के राहुल पांडे शामिल थे.

 जांच में पाई गई गड़बड़ी

 

Rewa news: Service of two employment assistants terminated in Rewa, this reason came to light

जांच के दौरान अधिकारियों को प्रधानमंत्री आवास में बड़े स्तर पर गड़बड़ी पाई गई. जिसमें अपात्र लोगों को पात्र बताकर प्रधानमंत्री आवास की किस्त जारी की गई,और किसी दूसरे व्यक्ति के पहले से निर्मित पक्के मकान का अन्य व्यक्ति के नाम पर बताया जाना शामिल है. हितग्राहियों की फोटोग्राफ्स आवास ऐप में अपलोड किए गए तमाम जानकारी सही नहीं पाई गई.इस पूरे मामले पर बड़ी कार्रवाई करते हुए दो रोजगार सहायकों को सेवा से मुक्त कर दिया गया है.

Rewa news:रीवा में सीएम मोहन यादव की अधिकारियों को सख्त चेतावनी

Leave a Reply

Related Articles

Close

Adblock Detected

Please disable the adblocker. It is the only source of our earnings.