रीवा

Rewa news:रीवा में शिक्षक के साथ ठगी, जमीन और फर्जी एग्रीमेंट दिखाकर की गई लूट पाट

Rewa news:जिंदगी भर की कमाई गवा कर बैठा शिक्षक

 

 

 

 

Mp rewa news:रीवा जिले में ठगी का व्यापार काफी तेजी से चल रहा है. शिकायत किए जाने पर पुलिस द्वारा आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई न करने पर अपराधियों के हौसले बुलंद हो गए हैं.और निरंतर लोग इनके शिकार हो रहे हैं.शहर में एक और मामला सामने आया है. जहां शहर के एक शिक्षक जिंदगी भर की कमाई गवा दिया.जानकारी के मुताबिक दूसरे की जमीन और फर्जी एग्रीमेंट दिखाकर शिक्षक के साथ लाखों रुपए की ठगी कर लिया है.

 

यह पूरा मामला सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत ग्राम जोरी की है.जहां रायपुर कर्चलियान निवासी शिक्षक राजकुमार शुक्ला अपना एक आशियाना बनाने के लिए जमीन लेने गए थे.शिक्षक के मुताबिक उसकी मुलाकात राजेंद्र सिंह निवासी रामनगर से उसका संपर्क हुआ.आरोपियों ने इसके बाद जोरी गांव में एक जमीन दिखाई.साथ ही फर्जी एग्रीमेंट दिखाए. इसके बाद पीड़ित ने आरोपियों को 5 लाख दे दिए इसके बाद आरोपी ने जमीन का एग्रीमेंट नहीं करवाया. परेशान होकर शिक्षक ने जमीन के रजिस्ट्री के लिए पहुंचा तो जमीन किसी दूसरे के नाम थी और जमीन का एग्रीमेंट फर्जी था.

चौरहटा थाने में दर्ज कराया मामला

शिक्षक राजकुमार शुक्ला ने धोखाधड़ी होने पर ठग के खिलाफ थाने में जाकर शिकायत दर्ज करवाया है. इस पूरे मामले में शिक्षक ने पुलिस को आरोपियों का मोबाइल नंबर और पता बता दिया है. पीड़ित ने मीडिया कर्मियों से बात करते हुए बताया कि पैसा मांगने पर आरोपी जान से मारने की धमकी दे रहे हैं. बता दें कि रीवा जिले में जमीन से संबंधित धोखाधड़ी के मामले सामने आते रहते हैं शिकायत के बाद आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई न होने की वजह से उनके इरादे मजबूत रहते हैं. जिसकी वजह से ऐसी घटनाएं सामने आती रहती हैं.

इस पूरे मामले में शिक्षक राजकुमार शुक्ल का कहना है कि पुलिस ने शिकायत पर अभी कोई कार्रवाई नहीं की है. हम यह यह चाहते हैं कि हमारा पैसा वापस हो जाए बता दें कि आरोपियों ने शिक्षक से 5 लाख रुपए की ठगी की है.

 

Rewa news:चेकिंग के दौरान पुलिस ने बाइक सवारो से बरामद की हीरोइन

 

Rewa से अयोध्या के बीच जल्द शुरू होगी ट्रेन, सांसद की पहल

Leave a Reply

Related Articles

Close

Adblock Detected

Please disable the adblocker. It is the only source of our earnings.