राष्ट्रीय / अंतर्राष्ट्रीय

Edible Oil Price: खाद्य तेलों के दाम में कटौती,15 रूपये सस्ता हुआ खाद्य तेल (Edible Oil Price Decreased in India )

Edible old price decreased in india by 15 rupee

Edible oil price in India : खाद्य तेलों की कीमतों को लेकर इस वक्त सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है, आपको बता दें कि सरकार ने आयात शुल्क में कटौती किया है जिसके कारण देश की प्रमुख कंपनियों ने अपने खाद्य तेलों के दाम में 15 से ₹20 की कटौती की है.

edible oil price news today
edible oil price news today

आपको बता दें कि इस देश में इस समय महंगाई चरम पर है, और हर वस्तुओं की कीमतों में भारी उछाल देखा जा रहा है.

खाद्य तेलों की बात की जाए तो जो सरसों का तेल पहले सुधीर से ₹130 प्रति लीटर बिका करता था.

आज उसकी कीमत 200 या 200 के ऊपर जा चुकी है.

लेकिन केंद्र सरकार की सराहनीय पहल सामने आई है.

तेल की कीमतों में हो रही लगातार उछाल के बाद सरकार ने आयात ड्यूटी को कम करने का फैसला किया है.
जो कि तत्काल प्रभाव से लागू ही हो गया है.

यही वजह है कि कंपनियों ने अपने खाद्य तेलों के दामों में भारी कटौती की है.

देश की जानी मानी कंपनी पतंजलि, फार्च्यून, सिक्का
आज कंपनियों ने अपनी तेल की कीमतों में ₹15 तक की कटौती जारी किया है,

साथ ही आदेश दिया है कि यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किया जाए,

कंपनी ने कहा

कि तेल की कीमतों में यह कमी केंद्र सरकार द्वारा खाद्य तेलों पर आयात शुल्क कम करने के चलते हुई है।
अडाणी विल्मर के प्रबंध निदेशक और सीईओ अंगशु मलिक ने कहा, ‘‘हम अपने ग्राहकों को कम लागत का फायदा दे रहे हैं, हमें विश्वास है कि कम कीमतों से मांग को भी बढ़ावा मिलेगा।

60 प्रतिशत तेल इंपोर्ट करता है भारत


अंतरराष्ट्रीय बाजार में उच्च दरों के कारण पिछले एक साल से खाद्य तेल की कीमतें बहुत ऊंचे स्तर पर बनी हुई हैं। घरेलू मांग को पूरा करने के लिए भारत सालाना लगभग 1.3 करोड़ टन खाद्य तेलों का इंपोर्ट करता है। खाद्य तेलों के लिए देश की इंपोर्ट पर निर्भरता 60 प्रतिशत की है।

ALSO READ THIS ARTICLES

Sariya aur Cement Ke Daam : फिर बढ़ने लगे सरिया और सीमेंट के दाम, जानिए आज की कीमत/

HF DELUXE BIKE: मात्र 21 हजार में मिल रही HF deluxe SELF स्टार्ट बाइक, ऐसे ख़रीदे/

Related Articles

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please disable the adblocker. It is the only source of our earnings.